Tag: motivate

Poetry

क्यों?

मनुष्य के जीवन में बहुत से ऐसे पल आते हैं जब उसे लगता है कि वह सब कुछ हार चुका है, उसका वजूद मिट चुका है । मन में ऐसे भाव आना विचार आना बुरा नहीं है किंतु इनके कारण रोना स्वयं को तकलीफ देना यह गलत है। ऐसे में हमें जरूरत है कि हम अपनी हिम्मत बांधे और लड़े उन चुनौतियों से। इसी भाव को लेखक ने कविता के माध्यम से प्रस्तुत किया है।

Poetry

लोग हैं

खुद की वास्तविकता को झुठला कर, खुद को नीचा गिरा कर, लोगों की बातों में आकर, हम अपनी क्षमताओं का गलत आकलन कर लेते हैं। हम दुनिया को जानना चाहते हैं लोगों को जानना चाहते हैं लेकिन सबसे महत्वपूर्ण हम खुद को नहीं जान पाते हैं।

Back To Top